जहां हमारा देव भूमि हिमाचल विकास की नई नई गाथाएं लिख रहा है और हर क्षेत्र में अपनी पहचान राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय स्तर पर स्थापित कर रहा है वहीं आज एक गंभीर विषय भी हमारे देवभूमि हिमाचल में विद्यमान है वह है नशे का कारोबार ओर नशे का प्रयोग जो हमारे नौजवानों, बच्चों को दिन प्रतिदिन दीमक की तरह खोखला कर रहा है आज हमें ऐसे गंभीर विषय पर गंभीरता और जागरूकता लानी होगी और सरकार से भी अनुरोध रहेगा की उड़ता पंजाब की तरह ही कहीं हमारा हिमाचल भी उडता हिमाचल ना हो जाए इससे पहले कि सरकार इस गंभीर विषय पर कुछ ठोस व सकारात्मक क़दम उठाए ताकि हिमाचल को नशें के जाल से मुक्त किया जाए, आज अगर नशे से जेसी गंभीर विषय पर निदान चाहना है तो हमें हर गांव स्तर जिला स्तर पर ओर राज्य स्तर पर जागरूकता ओर खेलों की ओर युवाओं ओर बच्चों को मोड़ना होगा क्योंकि यही दो ऐसे माध्यम है जिससे की हमारे मानसिक और शारीरिक रूप से परिवर्तन लाया जा सकता है और नशें में पड़े व्यक्तियों को जीवन के मुख्यधारा में शामिल किया जाए ताकि उनका भविष्य ओर जीवन सुखमय बन पाए आज जहां सीमावर्ती राज्यों जैसे पंजाब, दिल्ली,हरियाणा, उत्तराखंड इत्यादि हिमाचल के साथ लगते राज्यों से नशें का कारोबार बड़े स्तर पर हो रहा है जिसे प्रदेश सरकार को बड़ी गंभीरता से लेना होगा वहीं हमारे युवा जागरूकता ओर खेल के अभाव में भी कहीं ना कहीं नशें का शिकार हो रहे हैं अगर शुरुआती दौर से ही प्रदेश सरकार हर ग्रामीण ओर शहरी स्तर पर जागरूकता ओर खेलों की ओर विशेष क़दम क़दम उठाएगी तो यकिनन भविष्य में हम नशे जैसी भयंकर समस्या से निजात जरूर पाएंगे खेल जहां हमें शारीरिक रूप से मजबूत बनाता है वहीं भविष्य में रोजगार के अवसर भी प्रदान करता है आज जहां हिमाचल के अनेकों खिलाड़ियों ने हर खेल क्षेत्र में अपनी इच्छा शक्ति को हुनर से हिमाचल का नाम राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अंकित किया है वहीं पर हम जागरूकता के माध्यम से अनेकों युवा वर्ग ओर बच्चों को प्रोत्साहित करके या अपने विचारों से उनके जीवन को बदल सकते है और नशें में पड़े युवाओं को उनके भविष्य के लिए नई नई उम्मीद और हिमाचल सरकार द्वारा योजनाओं के लाभ की जानकारी उन तक पहुंचाई जा सकती है अगर हमे अपने देव भूमि हिमाचल को नशे से दूर करना है आज जितनी जवाबदेही प्रदेश सरकार ओर केन्द्र सरकार की है उतनी ही हम आप की भी है अगर हम सभी युवा वर्ग मिलकर अपने अपने क्षेत्र ओर समाज में जागरूकता ओर खेलों की ओर नशे में पड़े व्यक्तियों को मोड़ने में अपनी अहम भूमिका निभाएं ताकि हमारे घरों के चिराग बुझने से बच पाए अन्यथा हमें भविष्य में नशा हमें अपने आगोश में ले लेगा और हम कठपुतलियों की तरह उसके शिकार होते जाएंगे आज नशे के अनेकों रुप हिमाचल में भी विद्यमान हैं जैसे शराब, गांजा, हेरोइन, सुल्फा,भाग,चरस इत्यादि जो एक कारोबार, ओर हमारे भविष्य को निगलने के लिए पर्याप्त है हमें आज पुलिस प्रशासन का भी भरपूर सहयोग करना होगा ताकि नशे के कारोबारियों और नशें में पड़े व्यक्तियों को सलाखों के पीछे पहुंचाया जा सके अन्यथा हम नशे के दल दल में दिन प्रतिदिन बढ़ते जाएंगे आज हर सुबह अखबार की प्रमुख खबर नशे का पकड़ना ओर नशे का कारोबार करने वालों की प्रमुख सुर्खियां देखने ओर सुनने को मिलती हैं जो बहुत ही चिंताजनक ओर गंभीर विषय है हम जिस देव भूमि हिमाचल में रहते हैं वहां का इतिहास बहुत ही सुन्दर और गौरवमयी है जो देव भूमि के नाम से वीर्य भूमि के नाम से सादगी, संस्कृति, सभ्यता, शान्ति और सौहार्द्र भाव से जानी जाती है परन्तु नशे जैसी भयंकर समस्या ने हमारे हिमाचल की शान्ति, संस्कृति,ओर सौहार्द्र पूर्ण माहौल को ख़राब कर दिया है आज हमें अपने बच्चों को बचपन व शुरुआती दौर से ही नशे जैसी समस्या से निपटने के लिए जागरूक ओर खेलों की ओर अग्रसर करना होगा ताकि उनका शारीरिक और मानसिक विकास समय रहते हो पाएं, आज जहां हम अपने बच्चों को दूर तलक बड़े बड़े शहरों और महानगरों में शिक्षा ग्रहण करने के लिए अकेले भेजते हैं और उनकी कार्यशैली पर ध्यान ना देकर बस उनकी आर्थिक इच्छा को पूरा करते है और वही बच्चे इसका नाजायज फायदा उठाकर अपने साथियों के साथ नशे जैसी भयंकर समस्या के शिकार हो जाते हैं जो उनको मौत के मुंह तक ले जाता है ,आज हम सभी को जागरूक ओर समाज के हर तबके तक इस गंभीर विषय को बड़े स्तर पर ले जाना ओर जागरूकता लानी होगी और हिमाचल प्रदेश सरकार को भी नशे में पड़े व्यक्तियों को जीवन के मुख्यधारा में लाने के लिए उनको खेलों की ओर उनके भविष्य के लिए अहम क़दम उठाने होंगे आज जहां हिमाचल में नशा निवारण बोर्ड एक महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है और हर जिले स्तर पर जागरूकता अभियान ओर ओर उनके भविष्य को लेकर जानकारी प्रदान कर रहा है वहीं पर कुछ सकारात्मक परिणाम भी सामने आएं है परन्तु अभी यह कदम नशे जैसी बड़ी समस्या के लिए नाकाफी है हमें आज अपने सुन्दर एवं शांतिप्रिय प्रदेश को नशें जैसी समस्या से जुझना ओर इसका निदान करना होगा…. लेखक- ठाकुर हेमराज राणा सिरमौर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here